आईये पच्चीसी खेल खेलना सीखें

पच्चीसी एक प्राचीन भारतीय खेल है, पच्चीसी बोर्ड में पांच घर होते है जिसमे कि क्रॉस का निशान बना होता है और बीस खाली खाना होता है ! इसमें चार खिलाड़ी होते है चारों के पास चार – चार मोहरे होती है जिसे वो लोग अपने घरों में रखते है !
बीच वाला घर अंतिम घर कहलाता है सभी खिलाड़ियों को अपने सभी मोहरे उसी अंतिम घर में पहुँचाना होता है ! बाकि तीन खिलाड़ियों के सभी मोहरे अंतिम घर में पहुच जाने की स्थिति में चौथा खिलाड़ी हार जायेगा !
मोहरों की चाल पांच चिचोली के ऊपर निर्भर करता है ! हर चिचोली में एक तरफ सफ़ेद और दूसरे तरफ काला रंग होता है ! जब चिचोली फेका जाता है और एक सफ़ेद आए और बाकी काला आए तब मोहरा एक घर आगे बढ़ता है, जब दो सफ़ेद आए तब दो खाना, तीन सफ़ेद आने पर तीन खाना, चार सफ़ेद आने पर चार खाना, पांच काला आने पर पांच खाना, जब पांच सफ़ेद आता है तब पच्चीसी कहलाता है, पच्चीसी आने पर एक मोहरा सीधे अंतिम घर में पहुँच जाता है और उसको दुबारा चिचोली फेंकने का मौका मिलेगा !लेकिन यदि खिलाड़ी जिसने चिचोली फेंका है और पच्चीसी हुआ है तब उसका कम से कम एक मोहरा उसके खुद के घर में रहना आवश्यक है जो अंतिम घर में पहुचेगा वरना उस पच्चीसी का कोई मूल्य नहीं रहेगा हालाकि उसको दुबारा चिचोली फेंकने का मौका जरुर मिलेगा !
किसी खिलाड़ी का मोहरा अगर किसी ऐसे खाने में पहुँचता है जहाँ किसी दूसरे खिलाड़ी का मोहरा पहले से मौजूद है तो पहले से मौजूद मोहरे को घर वापस लौटना होगा और साथ ही जिस खिलाड़ी के कारण ये हुआ है उसको दुबारा चिचोली फेंकने का मौका मिलेगा !
किसी खिलाड़ी का मोहरा अंतिम घर में पहुँचने की स्थिति में उसको दुबारा चिचोली फेंकने का मौका मिलेगा !
खेल को अच्छी तरह समझने के लिए विडियो देखे, अगर खेल अच्छे से समझ ना आए तो बेशक आप कमेन्ट के माध्यम से बेफ्रिक पूछिए !