• Home »
  • social issues »
  • एक साक्षात्कार निजी स्कूल में बच्चे के एडमिशन के लिए

एक साक्षात्कार निजी स्कूल में बच्चे के एडमिशन के लिए

आजकल के निजी स्कूल ना केवल बच्चों के अभिभावकों को लुट रहे है बल्कि नियम कानूनों को भी ठेंगा दिखा रहे है ! अभिभावक भी बड़े निजी स्कूलों में अपने बच्चों को पढ़ाना स्टेटस सिम्बल बना लिए  है, इसी का फायदा बड़े निजी स्कूल अपनी फीस में बेतहाशा वृद्धि कर एवं नियम कानून को धता बताकर कई तरह के स्वनिर्मित फीस लेकर उठा रही है ! एडमिशन के मामले में हालाकि सुप्रीमकोर्ट ने बच्चों के एडमिशन पर किसी भी तरह की स्क्रीनिंग पर रोक लगायी हुयी है लेकिन आजकल के निजी स्कूल बच्चों की स्क्रीनिंग न केवल मेडिकल कराकर,  साक्षात्कार लेकर और तो और अभिभावकों तक के साक्षात्कार लेकर इसलिए कर रहे है ताकि उनके स्कूल में केवल अमीरों के बच्चे पढ़े जिससे उन्हें मनमाना फीस वसूलने में उन्हें कोई दिक्कत ना हो ! निजी स्कूलों द्वारा साक्षात्कार के बहाने बच्चे के अभिभावकों की हैसियत पता की जाती है ! सरकार भी इस ओर ध्यान नहीं दे रही है या यूँ कहे तो निजी स्कूलों के इस लूट को बढ़ावा दे रही है, बड़े बड़े नेताओं के निजी स्कूल चल रहे है इसलिए प्रशासन भी कार्यवाही से डरती है ! अधिकतर सरकारी स्कूलों की हालत बहुत ही ख़राब हो चुकी है जिसका फायदा निजी स्कूल बखूबी उठा रहे है ! अभिभावक भी निजी स्कूल के चल रहे लूट का विरोध नहीं कर रहे है, जानकारी के आभाव में अभिभावक अवैधानिक साक्षात्कार या यूँ कहें बच्चे के एडमिशन के लिए स्क्रीनिंग का हिस्सा बन रहे है ! निम्नमध्यमवर्गीय परिवार के  बच्चों के अभिभावकों को साक्षात्कार के बहाने बेईज्ज़त किया जाता है ताकि वो अपने बच्चे का एडमिशन ना कराये ! अभिभावकों को जागरूक करने के लिए ही हमने ये विडियो तैयार किया है आप भी देखिये और दूसरों को जागरूक करने हेतु शेयर करे और निजी स्कूल में चल रहे लूट को बंद कराये ! सरकार से हम आग्रह करते है सरकारी स्कूल और सरकारी अस्पताल को निजी स्कूल और निजी अस्पताल से बेहतर बनाए, हमारे दिए गए करों का अधिकतम और बेहतर उपयोग सुनुश्चित करे ! फिर अंत में कहना चाहुँगा की हमारा ये पोस्ट ज्यादा से ज्यादा शेयर करे क्योकि sharing is caring