• Home »
  • social issues »
  • भ्रष्टाचार- भारत की एक गंभीर समस्या और इलाज़

भ्रष्टाचार- भारत की एक गंभीर समस्या और इलाज़

यहाँ इस लेख में हम सिर्फ उस भ्रष्टाचार की बात करेंगे जिसका सामना एक आम आदमी को अपने जीवन में करना पड़ता है | भारत का लगभग हर आम आदमी इस भ्रष्टाचार से पीड़ित हो चूका है या हो रहा है ! भ्रष्टाचार को गहराई से समझने के लिए हमें एक आम आदमी की तरह सोचना या उनकी जिंदगी को समझना होगा ! आज की स्थिति ये है कि बच्चे के जन्म से लेकर व्यक्ति के मृत्यु तक हमेशा उसको भ्रष्टाचार का सामना करना पड़ता हैं जैसे कि जन्म के  समय जन्म प्रमाण पत्र बनाने के लिए रिश्वत देनी पड़ती हैं अगर रिश्वत नहीं दिया जाता हैं तो महीनो तक ऑफिस के चक्कर लगाने पड़ते हैं इसी तरह कई तरह के प्रमाण पत्र बनाने के लिए जैसे कि राशन कार्ड ,निवास प्रमाण पत्र ,जाति-आमदनी प्रमाण पत्र ,डाइविंग लाइसेंस ,आदि के लिए रिश्वत देनी पड़ती हैं | हमको ये समझना पड़ेगा कि हमें ये रिश्वत क्यों देनी पड़ती है ? इसका प्रमुख कारण सरकारी कार्यालयों में बैठे बाबूओ या अधिकारीयों द्वारा लोगों को कई दिनों या महीनो, कभी कभी तो सालों तक चक्कर लगवाया जाता है जिससे परेशान होकर एक आम आदमी रिश्वत देता है ताकि उनका काम जल्दी हो जाय ! इस रिश्वत के संस्कृति को बढ़ावा देने में कुछ संपन्न परिवारों का भी बहुत बड़ा हाथ है वो अपना काम जल्दी करवाने के लिए इन बाबुओं और अधिकारीयों को रिश्वत ऑफर करते है ! बाबुओं या अधिकारीयों द्वारा एक बार रिश्वत लेने के बाद तो जैसे शेर के दांत में खून लगने जैसी स्थिति हो जाती है, और वो लोग सभी लोगो से रिश्वत की मांग करने लगते है | इस भ्रष्टाचार की जड़े इतनी गहरी हो चली है कि एक चपरासी से लेकर मंत्रियों तक रिश्वत की रकम का बटवारा होता है और इसीलिए ही किसी भ्रष्टाचारी को इतने नियम कानून होने के बाद भी सजा नहीं हो पाती | आम आदमी की मुश्किल ये होती है कि वो साबित नहीं कर पाता कि उसने परेशान होकर रिश्वत दी है !

आईये अब इसका इलाज़ ढूंढते है, समस्या ये है कि भ्रष्टाचारियों को सजा दिलाने हेतु आम आदमी के पास सबुत नहीं होता है | मसला सिस्टम का है सिस्टम में अमुलचुल परिवर्तन लाने की जरुरत है | अब वो परिवर्तन क्या हो सकता है ! इसके बारे में हम आपको विस्तार से समझायेंगे !

       देश में पूरी तरह से नोट और सिक्कों को बंद कर दिया जाय, कहने का मतलब है केवल इलेक्ट्रॉनिक ट्रांजिक्शन हो | देश के सभी लोगों के पास एक मोबाइल जैसी चीज़ हो जिसमे फिंगर प्रिंट स्कैनर  और क्यू आर कोड स्कैनर की फैसिलिटी हो ताकि हमारे उस डिवाइस को कोई और ना इस्तेमाल कर सके साथ ही सभी लोगो को इस्तेमाल करने में आसानी हो कहने का मतलब है कि उसको पढ़े लिखे और अनपढ़ दोनों इस्तेमाल कर सके | अब समझिये इससे भ्रष्टाचार कैसे रुकेगा | पैसे का लेन-देन सिर्फ उस मोबाइल जैसी डिवाइस के माध्यम से ही होगी मतलब कि हर ट्रांजिक्शन का रिकॉर्ड होगा | अब यदि हम किसी कार्यालय में गए और किसी अधिकारी या बाबु द्वारा पैसो की मांग की गई हमने दे भी दिया तो उसका हमारे पास सबुत होगा हम उस बाबु या अधिकारी को जेल भिजवा पाएंगे| इस डिवाइस के भ्रष्टाचार को रोकने के अलावा और भी बहुत तरह के फायदे होंगे जैसे हमको चिल्लर की  दिक्कत नहीं होगी, हमको अगर किसी को 10.50 देना होगा तो हम सामने वाले क्यू आर कोड को स्कैन कर के अकाउंट में सिर्फ उतना ही ट्रांसफर करेंगे | और हाँ साथ ही हमको हर काम के लिए दिन निर्धारित करने वाला कानून भी लाना होगा जैसे कि राशन कार्ड 7 दिन के अन्दर बनना ही है नहीं तो उस अधिकारी या बाबु के ऊपर जुर्माना लगे इसी तरह अन्य कामों के लिए भी दिन निर्धारित हो  ! इस तरह का इंतज़ाम अगर देश में हो गया और पुरे रिकॉर्ड की जानकारी आर बी आई के पास रहे तो भ्रष्टाचार में लगभग पूरी तरह से लगाम लग जायेगी ! हमें तो यकीन है जिस दिन देश में एक इमानदार सरकार आई वो कुछ इसी तरह का प्रयोग जरुर करेंगे |

हम आपसे अपील करते है, अगर हमारे देश को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना है तो इस पोस्ट को इतना शेयर करे कि देश के हर एक नागरिक तक तो ये सन्देश जाए  ही साथ ही सरकार के नुमाइंदो तक भी ये बात पहुचे |